ये है दुनिया की सबसे बेरहम प्रथा, असहनीय दर्द से मर जाती हैं कई लड़कियां

0
3563

भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में ऐसी कई प्रथाये है जो काफी खौफनाक है | हम अपने पूर्व में प्रकाशित आर्टिकल में ऐसी बहुत सारी प्रथाओं की जानकारी आपको दे चुके है | लेकिन आज हम जिस प्रथा के बारे में आपको बता रहे है, यह दुनिया की सबसे बेरहम प्रथा है | अफ्रीका महाद्वीप में एक केन्या नाम का देश है, जहाँ खतना नाम की प्रथा प्रचलन में है | इस प्रथा के सामने भारत की सती प्रथा और बाल विवाह जैसी प्रथाये फीकी पड़ जाएँगी |

इस प्रथा में लड़कियों का मानसिक और शारीरिक योन शोषण किया जाता है |खतना करने की लड़कियों में एक निश्चित उम्र होती है | लगभग 7 से 8 साल के बीच हर लड़की का खतना किया जाता है | जब मीडिया रिपोर्टर ने समुदाय के मुखिया से पूछा की लकड़ियां का खतना क्यों किया जाता है तो उन्होंने कहा की लड़कियों में पुरुषो की तुलना में 4 गुना कामेच्छा होती है, जिसे दबाने के लिए खतना किया जाता है | इससे लड़कियां बड़ी होकर किसी दूसरे पुरुष की ओर आकर्षित नहीं होती है |

इस प्रथा में लड़कियों को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है | इसमें एक मासूम सी लड़की को दाई माँ के पास लिया जाता है और वहां बड़ी बेहरमी से लड़कियों की क्ला’इटोरिस को तेज धार वाले औजार से काट दिया जाता है | इस समय कई लड़कियां दर्द सहन नहीं कर पाती है और मर जाती है |

यदि लड़कियां किसी तरह दर्द सहन भी कर लेती है तो जीवन भर अपने साथ की गये दर्दनाक मंजर को भूल नहीं पाती है | हाल ही में एक रिपोर्ट में दावा किया गया है की खतना प्रथा से लगभग 7 लाख लड़कियां पीड़ित है | इस प्रथा में हर 3 में से 1 लड़की मृत्यु को प्राप्त हो जाती है | लेकिन फिर भी यहाँ के लोगो को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है |

आपको यह जानकर हैरानी होगी की विदेशो में ही नहीं बल्कि भारत में भी कई लड़कियों के साथ खतना किया जाता है | यह प्रथा मुसलमानो के बोहरा सम्प्रदाय में आज भी प्रचलन में है | यह समुदाय भारत के राज्य महाराष्ट्र और गुजरात में आज भी रहते है | दुनिया में लगभग 20 हजार से भी अधिक लड़कियों का खतना किया जाता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here